Oct 14, 2016

अल्‍ट्रा हाई स्‍पीड ट्रेनों के विकास के लिये छह कंपनियों ने दिखायी रुचि : रेल मंत्री सुरेश प्रभु



सुरेश प्रभु का फाइल फोटो

खास बातें

इन कंपनियों से परिवहन प्रौद्योगिकी पर चर्चा हुई
रेलवे इनके परीक्षण के लिए कार्ययोजना तैयार कर रही
इस पर 400 किमी से अधिक गति से ट्रेन के चलने की उम्मीदनई दिल्ली: रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने गुरुवार को यहां कहा कि छह बड़ी वैश्विक कंपनियों ने देश में अधिक उच्च गति से चलने वाली ट्रेनों के विकास में रुचि दिखायी है.
भारत आर्थिक सम्मेलन को संबोधित करते हुए प्रभु ने कहा, ''प्रौद्योगिकी का उपयोग अगली बड़ी चीज है जो परिवहन क्षेत्र में होने जा रहा है. हमारी दो सितंबर को दिल्ली में बैठक हुई है. छह वैश्विक कंपनियां आईं और परिवहन प्रौद्योगिकी पर बातचीत की, जिसका हम देश में विकास, सह-विकास, विनिर्माण और उपयोग करेंगे. बाद में इसका उपयोग देश के बाहर भी हो सकता है.''

उन्होंने 'चौथी औद्योगिक क्रांति' की चुनौतियों के बारे में बात की जिसके लिये वैश्विक रुख के साथ स्थानीय समाधान समय की जरूरत है.

प्रभु ने कहा कि प्रौद्योगिकी ऐसी चीज है जो पूरी व्यवस्था में क्रांति लाने जा रही है. भारतीय रेलवे ने देश में 'अल्ट्रा हाई-स्पीड' ट्रेन के विकास में रुचि पत्र जारी किया था जिसमें शीर्ष वैश्विक कंपनियों ने रुचि दिखायी है. अब रेलवे इन 'अल्ट्रा-स्पीड ट्रेनों' के परीक्षण के लिये 'शार्ट ट्रैक' के विकास के लिये कार्य योजना तैयार कर रही है. इस पर 400 किलोमीटर से अधिक गति से ट्रेन के चलने की उम्मीद है.

(यह  खबर सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)