Dec 22, 2016

प्रतियोगिताएं ज्ञानवर्धन का आवश्यक अंग - श्री अर्जुन मुंदिया (क्षेत्रीय हिंदी प्रश्न-मंच प्रतियोगिता में हैदराबाद मंडल प्रथम)



दक्षिण मध्य रेलवे के मुख्यालय में 20.12.2016 को क्षेत्रीय हिंदी प्रश्न-मंच प्रतियोगिता के आयोजन के दौरान मुख्य राजभाषा अधिकारी एवं मुख्य यांत्रिक इंजीनियर श्री अर्जुन मुंदिया ने कहा कि इस प्रकार के आयोजन से जहां एक ओर राजभाषा का प्रयोग-प्रसार के लिए अनुकूल वातावरण बनता है वहीं दूसरी ओर ज्ञानवर्धन होता है और स्मृति ताजा होती है. उन्होंने कहा कि यह प्रसन्नता व्यक्त की कि इस प्रतियोगिता में इस रेलवे के प्रधान कार्यालय सहित सभी मंडलों और कारखानों ने भाग लिया.

उप महाप्रबंधक (राजभाषा) डॉ.श्याम सुंदर साहु ने इस प्रतियोगिता की रूपरेखा प्रस्तुत की और इस प्रतियोगिता का संचालन किया. इस प्रतियोगिता में कुल 10 चक्र रखे गए और प्रत्येक चक्र में प्रत्येक टीम से प्रश्न पूछे गए. इस प्रतियोगिता में प्रधान कार्यालय, सिकंदराबाद मंडल, हैदराबाद मंडल, विजयवाडा मंडल, गुंतकल मंडल, नांदेड मंडल, गुंटूर मंडल, लालागुडा कारखाना, रायनपाडु कारखाना, तिरुपति कारखाना की टीमों के पांच-पांच प्रतिभागियों ने भाग लिया. इस प्रश्न-मंच में साहित्य एवं संस्कृति, राजभाषा, हिंदी सिनेमा तथा संगीत, भारतीय रेल आदि विषयों से संबंधित प्रश्न पूछे गए. सभी राउंड में प्रत्येक टीम से अलग-अलग प्रश्न पूछे गए. अंतिम राउंड रैपिड राउंड था. इस प्रतियोगिता में हैदराबाद मंडल की टीम (श्रीमती टी. सरस्वती, श्रीमती के.सुधा रानी, श्री राम कृष्णा, श्री सुकुमार दत्ता, श्री रियाज मोइनुद्दीन) को प्रथम पुरस्कार, सिकंदराबाद मंडल टीम (श्री ए.सुरेश रेड्डी, श्री राजेश जोसफ मिंज, श्री रघुपाल रेड्डी, श्री जी.वी. नरेंदर, श्री कृष्ण कुमार यादव) को द्वितीय पुरस्कार और प्रधान कार्यालय की टीम (श्रीमती ललिता सयन्ना, श्रीमती करमजीत कौर, श्रीमती जी.जी.संध्या, श्री मुकेश कुमार, श्री मधुसूदन राव) को तृतीय पुरस्कार प्राप्त हुआ. मुख्य राजभाषा अधिकारी के करकमलों से विजेता टीमों को पुरस्कार प्रदान किए गए. इसके अलावा प्रधान कार्यालय स्तर पर आयोजित हिंदी प्रश्न-मंच प्रतियोगिता के विजेताओं को पुरस्कार प्रदान किए गए.

राजभाषा विभाग, प्रधान कार्यालय के सहयोग से इस कार्यक्रम का सफल आयोजन किया गया. श्री लक्ष्मण शिवहरे, वरिष्ठ राजभाषा अधिकारी के धन्यवाद प्रस्ताव से इस कार्यक्रम का समापन हुआ. इस कार्यक्रम के आयोजन में श्री अरुण कुमार मंडल, वरिष्ठ राजभाषा अधिकारी, सिकंदराबाद ने अपना सहयोग दिया.