Feb 17, 2018

रेलवे ग्रुप-डी फॉर्म में आईटीआई डिग्री मांगने पर छात्रों ने रेल रोका



ग्रुप-डी में रेलवे भर्ती बोर्ड द्वारा आईटीआई डिग्री की मांग किए जाने को लेकर छात्रों ने रेलवे बोर्ड के विरोध में शुक्रवार को जसीडीह रेलवे स्टेशन पर जमकर हंगामा किया। इस दौरान जसीडीह स्टेशन पर आक्रोशित छात्रों ने कई ट्रेनों को लगभग आधे घंटे तक रोके रखा। छात्रों का कहना था कि रेलवे बोर्ड द्वारा ग्रुप-डी में आईटीआई डिग्री की मांग किया जा रहा है जो अनावश्यक है।कहा कि हमलोग दूर-दूर से रेलवे बोर्ड द्वारा निकाली गई बहाली के लिए फॉर्म भरने आए हैं, लेकिन यहां आने के बाद पता चल रहा है कि ग्रुप-डी में फॉर्म भरने के लिए आईटीआई की डिग्री होना जरूरी है। जिनके पास डिग्री होगा वही फॉर्म भर पाएंगे। यदि ऐसा था तो पहले ही बहाली के समय लिखना चाहिए था। ऐसे में छात्रों को यहां आने और बैरंग लौटने में परेशानी होती है।
छात्रों की मांग है कि ग्रुप-डी की बहाली में त्वरित आईटीआई हटाया जाए, सरकार द्वारा कई सालों से बहाली रोककर रखा था और बहाली दिया भी तो आईटीआई की मांग की जाने लगी जो पूर्व में नियम लागू नहीं था, एससीएसटी के छात्रों को परीक्षा शुल्क निःशुल्क था रेलवे बोर्ड द्वारा शुल्क को हटाने, सभी छात्रों ने अपनी मांग करते हुए सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की। विरोध के दौरान जसीडीह स्टेशन पर बैधनाथधाम किउल पैसेंजर को 11:38 से 12:08 तक, झाझा-बैधनाथधाम पैसेंजर ट्रेन को 12:28 से 12:48 तक प्लेटफार्म पर रोककर रखा गया। जसीडीह रेलकर्मी व आरपीएफ, जीआरपी के समझाने पर काफी मशक्कत के बाद ट्रेन को खोला गया। जिसके बाद छात्रों ने पुनः अप लाइन में आ रही दुरंतो एक्सप्रेस ट्रेन को लगभग दस मिनट तक रोक दिया। रेल सरकार के नाम मांगपत्र जसीडीह आरपीएफ व टीआइ को सौंपा। मांग पत्र मे कहा कि सरकार हमारी मांगें नहीं मानती है तो पुनः हम सभी छात्र 21 फरवरी को महा रेलचक्का जाम करेंगे। 
जसीडीह रेलवे स्टेशन में ट्रेन रोककर हंगामा करते छात्र। 

सत्संग चौक पर भी छात्रों ने काटा बवाल 

देवघर। रेलवे में चतुर्थवर्गीय पद पर परीक्षा फार्म भरने आए छात्रों ने शुक्रवार को सत्संग चौक पर भी भारी हंगामा किया। छात्रों ने सत्संग चौक पर रेलवे हाल्ट पर हंगामा करते हुए देवघर-जसीडीह पैसेंजर टेन को थोड़ी देर के लिए बाधित कर दिया। छात्र पटरी पर ही लेट गए और ट्रेन को रोक दिया। छात्रों ने बताया कि सभी छात्र रेलवे में चतुर्थवर्ग के पद पर होनेवाली परीक्षा को लेकर फार्म भरने आए थे, यहां आकर पता चला कि इसमें आईटीआई की अनिवार्यता कर दी गयी जिसकी सूचना हमें पहले नहीं दी गयी थी। सभी छात्र सिर्फ परीक्षा की तैयारी कर आए हैं। छात्रों ने कहा कि आईटीआई की अनिवार्यता से छात्र परीक्षा फार्म भरने से वंचित रह जाएंगे। यहां हंगामा करने के बाद ही सभी छात्र जसीडीह स्टेशन पहुंचे थे।


Source - Bhaskar

Translate in your language

M 1

Followers