Jul 4, 2018

आंधी और बरसात ने बिगाड़ा ट्रेनों का शेड्यूल



मानसूनी बरसात और तेज हवा के झोंकों ने मंगलवार को ट्रेनों का शेड्यूल खराब कर दिया। प्रमुख स्टेशनों के यार्ड में पानी भरने से गाड़ियों जहां-तहां खड़ी हो गईं। मंडल में 45 ट्रेनें विलंब से चलीं, जिसमें सबसे अधिक सिग्नल की खराबी से लेट हुईं।

हवा के झोंको और पानी ने रेलवे के विद्युत सिस्टम (ओएचई)और सिग्नल पर सबसे अधिक संकट खड़ा किया। सबसे अधिक ट्रेनें सिग्नल काम नहीं करने की वजह से लेट चलीं। पंजाब मेल, लखनऊ-चंडीगढ़ एक्सप्रेस, दून एक्सप्रेस, सद्भावना, नौचंदी, गरीब रथ और राजधानी मुख्य लाइन में खड़ी रहीं। पटरी की खराबी और तकनीकी वजह से इंटरसिटी, राज्यरानी, जनता, कामाख्या, किसान, लिंक के यात्री ट्रेनों में फंसे रहे। रेल प्रवक्ता का कहना है कि बरसात की वजह से ट्रेनों का संचालन प्रभावित हुआ है। यार्ड में पानी की वजह से सिग्नल की दिक्कत आई थी।

ट्रेन विलंब

दून एक्सप्रेस 11:35 घंटे

शहीद एक्सप्रेस 11:35 घंटे

न्यूजलपाईगुड़ी एक्स. 7:15 घंटे

सरयू यमुना एक्सप्रेस 7:15 घंटे

जनसेवा एक्सप्रेस 3:50 घंटे

अर्चना एक्सप्रेस 2:30 घंटे

राज्यरानी एक्सप्रेस 2:00 घंटे

मेहरौली गाजियाबाद सेक्शन में ट्रैक पर फंसा ट्रैक्टर

मुरादाबाद। मंगलवार को मेहरौली और गाजियाबाद के बीच फिर बड़ा रेल हादसा टला। मेन लाइन पर ट्रैक्टर ट्राली फंस गई। इसके बाद गेट मैन की सांस अटक गई। कंट्रोल को इस बात की जानकारी दी गई तो टीम मौके पर पहुंची। इस बीच मेहरौली में सद्भावना एक्सप्रेस 25 मिनट और सुहेलदेव एक्सप्रेस गाजियाबाद में 20 मिनट खड़ी रही। सुबह साढ़े आठ बजे रेल लाइन पर ट्रैक्टर खराब होने के बाद विभाग में हड़कंप मच गई।

सीबीगंज के पास टूट रेल फाटक

मुरादाबाद। दिल्ली-कोलकाता मुख्य लाइन पर ट्रेनों के संचालन में चूक से सीबीजंग के पास रेल फाटक टूट गया। सेक्शन का गेट संख्या 359-बी गेट खराब हो गया। पता चला कि अज्ञात वाहन ने गेट के बूम पर टक्कर मार दी थी। इस वजह से बूम का तार टूट गया था। दो घंटे बाद गेट की खराबी ठीक हो पाई।

दो स्थान पर टूटी रेल पटरी, ट्रेनों का संचालन ठप

मुरादाबाद। मंगलवार को मंडल में दो स्थानों पर रेल पटरी टूटने की वजह से ट्रेनों का संचालन प्रभावित हुआ। अगवानपुर और हरथला के बीच सुबह छह बजे पटरी टूटने की जानकारी कर्मचारी ने कंट्रोल रूम को दी।

सिविल इंजीनियरिंग विभाग की टीम ने पटरी की मरम्मत शुरू की। इसके बाद तीस किमी प्रति घंटे की सीमित रफ्तार से ट्रेनों को सेक्शन में गुजारा गया। इस वजह से अगवानपुर के पास किसान एक्सप्रेस 25 मिनट रुकी रही।

उधर, रामपुर सेक्शन में भिटौरा के पास रेल पटरी टूटने की वजह से राज्यरानी एक्सप्रेस करीब डेढ़ घंटे खड़ी रही। यहां भी टीम को सुबह सवा आठ बजे पटरी टूटने की जानकारी दी गई। इसके बाद पटरी की मरम्मत की गई। इसके बाद काशन में ट्रेनों को गुजारा गया।

Source - HT 

Translate in your language

M 1

Followers