Apr 29, 2018

हाउस रेंट को ले रेलवे व यूनियनों में तकरार



दक्षिण पूर्व रेलवे अंतर्गत खड़गपुर रेल मंडल में रेल प्रशासन की ओर से रेल कर्मचारियों को हाउस रेंट नहीं दिया जा रहा है। इसे लेकर रेलवे के ट्रेड यूनियनों के साथ रेलवे प्रशासन के बीच तकरार व्याप्त है। ट्रेड यूनियनों का कहना है कि दक्षिण पूर्व रेलवे अंतर्गत अन्य मंडलों में रेलवे प्रशासन की ओर से रेल कर्मचारियों को हाउस रेंट दिया जाता है, लेकिन केवल खड़गपुर मंडल में ही कर्मचारियों को हाउस रेंट नहीं दिया जा रहा है। इसकी वजह से रेल ट्रेड यूनियनों में रेलवे प्रशासन के खिलाफ नाराजगी भी व्याप्त है।

खड़गपुर रेल मंडल में करीब 25 हजार रेल कर्मचारी काम करते हैं। मंडल में रेल क्वार्टरों की संख्या करीब 15 हजार है। रेल क्वार्टर का इस्तेमाल न करने वाले कर्मचारियों को नियमानुसार हाउस रेंट मिलना चाहिए। जो नहीं मिल रहा है। दक्षिण पूर्व रेलवे मेंस कांग्रेस के महासचिव एसआर मिश्रा ने कहा कि जोन के अन्य मंडलों में रेल कर्मचारियों को हाउस रेंट दिया जा रहा है, लेकिन केवल खड़गपुर में ही कर्मचारियों को हाउस रेंट देने के मामले में रेलवे प्रशासन की ओर से आनाकानी किया जा रहा है। इसे लेकर अब हमलोग रेलवे के खिलाफ आंदोलन करेंगे, वहीं मेंस यूनियन के सहायक महासचिव अजीत घोषाल ने कहा कि हाउस रेंट को लेकर यूनियन की ओर से लंबे अरसे से आवाज उठाई जा रही है, लेकिन रेलवे की ओर से कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। इधर खड़गपुर रेल मंडल के वरिष्ठ वाणिज्य प्रबंधक व जनसंपर्क अधिकारी कुलदीप तिवारी ने कहा कि काफी तादाद में क्वार्टर खाली अवस्था में पड़ हैं। जिन्हें क्वार्टर चाहिए। वह यहां आकर रहे। ऐसी परिस्थितियों में हाउस रेंट नहीं दिया जा सकता है।

Source -  Jagran 

Translate in your language

M 1

Followers