May 20, 2019

रेलवे कर्मियों की स्वास्थ्य सेवा अब होगी स्मार्ट

रेलवे कर्मियों की स्वास्थ्य सेवा अब होगी स्मार्ट

कोटा मंडल के रेलवे कर्मचारियों और सेवानिवृत कार्मिकों की स्वास्थ्य सुविधा अब स्मार्ट होने जा रही है। रेलवे अपने सभी मौजूदा व सेवानिवृत्त कर्मचारियों को उम्मीद नाम से स्मार्ट हैल्थ कार्ड जारी करेगा। मंडल में यह कार्य शुरु कर दिया गया है।
मंडल में 20 हजार कार्मिकों के कार्ड बनाए जाएंगे। इनमें करीब 13 हजार रेलकर्मी हैं और अन्य सेवानिवृत है। इसके बाद रेलकर्मियों के परिजनों के भी कार्ड बनाए जाएंगे। इस तरह मंडल में 50 हजार स्मार्ट कार्ड जारी होंगे। डीआरएम यूसी जोशी के निर्देशन में वरिष्ठ मंडल कार्मिक अधिकारी सुबोध विश्वकर्मा और उनकी टीम ने योजना का क्रियान्वयन शुरु कर दिा है। कर्मचारी को यह कार्ड एक यूनिक नंबर के साथ दिया जाएगा। नौकरी के दौरान कहीं भी तबादला होने पर और सेवानिवृत्ति के बाद भी यही नंबर काम आएगा।
कार्ड के विशिष्ट पहचान नंबर और उससे जुड़ी जानकारी को रेलवे अस्पतालों तक पहुंचाने के लिए सर्वर बनाया है। प्रत्येक अस्पताल इस सर्वर से कर्मचारी के बारे में जानकारी जुटा सकेगा। जो इलाज में सहायक होगी। रेलवे कर्मियों को कलर स्ट्रिप वाले मेडिकल हैल्थ यूनिक आईडी कार्ड जारी होंगे। कार्ड पर 12 डिजिट के अल्फान्यूमैरिक नंबर दर्ज होंगे। बोर्ड ने मेडिकल हैल्थ कार्ड को चार रंगों में बांटा है। हैल्थ कार्ड को नीला, हरा और पीला रंग दिया गया है।
ये भी पढ़े - लहसुन से निखरेगी त्वचा, जानें-5 चौंकाने वाले फायदे

कोटा मंडल के रेलवे कर्मचारियों और सेवानिवृत कार्मिकों की स्वास्थ्य सुविधा अब स्मार्ट होने जा रही है। रेलवे अपने सभी मौजूदा व सेवानिवृत्त कर्मचारियों को उम्मीद नाम से स्मार्ट हैल्थ कार्ड जारी करेगा। मंडल में यह कार्य शुरु कर दिया गया है।
मंडल में 20 हजार कार्मिकों के कार्ड बनाए जाएंगे। इनमें करीब 13 हजार रेलकर्मी हैं और अन्य सेवानिवृत है। इसके बाद रेलकर्मियों के परिजनों के भी कार्ड बनाए जाएंगे। इस तरह मंडल में 50 हजार स्मार्ट कार्ड जारी होंगे। डीआरएम यूसी जोशी के निर्देशन में वरिष्ठ मंडल कार्मिक अधिकारी सुबोध विश्वकर्मा और उनकी टीम ने योजना का क्रियान्वयन शुरु कर दिा है। कर्मचारी को यह कार्ड एक यूनिक नंबर के साथ दिया जाएगा। नौकरी के दौरान कहीं भी तबादला होने पर और सेवानिवृत्ति के बाद भी यही नंबर काम आएगा।
कार्ड के विशिष्ट पहचान नंबर और उससे जुड़ी जानकारी को रेलवे अस्पतालों तक पहुंचाने के लिए सर्वर बनाया है। प्रत्येक अस्पताल इस सर्वर से कर्मचारी के बारे में जानकारी जुटा सकेगा। जो इलाज में सहायक होगी। रेलवे कर्मियों को कलर स्ट्रिप वाले मेडिकल हैल्थ यूनिक आईडी कार्ड जारी होंगे। कार्ड पर 12 डिजिट के अल्फान्यूमैरिक नंबर दर्ज होंगे। बोर्ड ने मेडिकल हैल्थ कार्ड को चार रंगों में बांटा है। हैल्थ कार्ड को नीला, हरा और पीला रंग दिया गया है।
Source - Dainik Bhaskar

Translate in your language

M 1

Followers