Nov 14, 2018

IRCTC: कन्फर्म टिकट पर ऐसे बदलें पैसेंजर का नाम


क्या ऑनलाइन टिकट बुक करते हुए आपसे कभी गलती हुई है? कभी ऐसा हुआ है कि किसी कारणवश आप यात्रा नहीं कर पाए और अपना कन्फर्म टिकट अपने किसी फैमिली मेंबर के नाम से बुक करना चाहते हैं? अगर नहीं, तो आप ऐसा कर सकते हैं क्योंकि आईआरसीटीसी बुक किए गए टिकट में बदलाव करने की सुविधा प्रदान करता है, लेकिन इसमें भी एक ट्विस्ट है और वह यह कि टिकट में एक बार बदलाव किए जाने के बाद आप उसमें दोबारा बदलाव नहीं कर सकते।

Western Railway’s WhatsApp initiative goes national


Western Railway’s (WR) initiative to have a WhatsApp number for complaints related to cleanliness has caught the attention of the Railway Board in Delhi. The initiative has been selected along with 10 others across railways divisions to be implemented across the country.

WR’s Mumbai Division has set up a WhatsApp number (9004499773) to get real-time feedback from passengers on the cleanliness at stations and at pay-and-use toilets. The Railway Board handpicked 11 initiatives out of 1,979 entries across various divisions to improve day to day operations in the railways. WR’s DISHA app had also similarly selected in the past.

-मांगों को लेकर रेलवे कर्मियों ने दिया धरना


विभिन्न मांगों को लेकर नार्दन रेलवे मेन्स यूनियन की ओर से रुड़की रेलवे स्टेशन पर धरना दिया। साथ ही अपनी मांगों को लेकर एक ज्ञापन भी दिया।

मंगलवार को पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार नार्दन रेलवे मेन्स यूनियन के बैनर तले कर्मचारियों ने सबसे पहले रुड़की रेलवे स्टेशन पर प्रदर्शन किया। इसके बाद कर्मचारी धरना देकर बैठ गए। उन्होंने कहा कि रेलवे में कार्यरत कर्मचारियों को अधिकारियों के घरों पर निजी कार्यो के लिए न लगाया जाए। लेकिन चोरी छिपे ऐसा किया जा रहा है। इसके अलावा उच्च अधिकारियों की ओर से ट्रैकमेन, कीमेन, मेट एवं ट्राली मेन के साथ सही से बात करने के लिए कहा जाए। इसके अलावा कर्मचारियों की कई अन्य मांगे हैं जिन पर लंबे समय से रेलवे के अधिकारी ध्यान नहीं दे रहे हैं। काफी देर तक कर्मचारी नारेबाजी करते रहे। बाद में उन्होंने एक ज्ञापन रेलवे के उच्च अधिकारियों को भेजा। इस अवसर पर दशरथ पासवान, एसके वर्मा, राजपाल, कमला ¨सह, विक्रम, राजबीर ¨सह, राहुल, खुर्शीद, अमित, संदीप और अजय आदि मौजूद रहे।

Source - Jagran 


स्टेशन पर गंदगी, शौचालयों में लटका मिला ताला


रेलवे स्टेशन पर यात्री सुविधाओं की बदहाली आधुनिक रेलकोच कारखाना लालगंज के महाप्रबंधक ने खुद देखी। इस पर वे खासे नाराज हुए। स्टेशन के अफसरों से जवाब न मिलने पर डीआरएम को फोन पर इसकी जानकारी दी।

आधुनिक रेलकोच कारखाना लालगंज के महाप्रबंधक सुनीत कुमार ने रेलवे स्टेशन लालगंज का निरीक्षण किया। कई सालों से बंद पड़ी दो रेललाइनों को देख उन्होंने नाराजगी जताई। मौके पर मौजूद अधिकारियों के जवाबों से संतुष्ट न होने पर उन्होंने सीधे मंडल रेल प्रबंधक को फोन कर जानकारी दी। स्टेशन पर फैली गंदगी, शौचालय में लटके ताले व रेल पटरी पर टूटी पड़ी बेंच देख अधिकारियों से सवाल जवाब किए। रेलवे स्टेशन लालगंज पर प्लेटफार्म नंबर एक की तरफ सलून साइ¨डग की रेल पटरियां बिछी हैं। जिस पर रेल पटरियों के अनुरक्षण से संबंधित मशीनों के आने पर खड़ा किया जाता है। प्लेटफार्म संख्या तीन पर दो रेल लाइनें चार व पांच नंबर बिछी हैं, जो सालों से उपयोग में नहीं हैं।
USEFUL INFORMATION - www.informationcentre.co.in  

चारागाह बना पीडीडीयू जंक्शन का यार्ड


इन दिनों पशुओं के चारागाह और स्थानीय रेल यार्ड में फर्क करना काफी मुश्किल काम है। यार्ड में जहां भी नजर जाएगी ट्रेनों के साथ छुट्टा पशु दिखाई देंगे। कभी पटरियों के बीच चरते हुए तो कभी चारे की तलाश में प्लेटफार्म के पास। ऐसे में दुर्घटना की आशंका बनी रहती है। जिम्मेदार सब कुछ जानते हुए भी खामोश हैं। इस इंतजार में कि कोई बड़ी घटना हो तो हरकत में आएं।

USEFUL INFORMATION - www.informationcentre.co.in 

बनारस से आगरा के बीच अब सेमी हाईस्पीड ट्रेन, दूरी महज साढ़े तीन घंटे में होगी तय


अब बनारस और आगरा के बीच की 700 किलोमीटर की दूरी साढ़े तीन घंटे में तय की जा सकती है। फोरलेन, ¨रग रोड व जलमार्ग से काशी वासियों को मिले पीएम के तोहफे के बाद अब रेल मंत्रालय ने शहर को सेमी हाईस्पीड ट्रेन देने का निर्णय लिया है। ऐसा होने पर प्रदेश के दो पर्यटन क्षेत्रों के बीच आवागमन सुविधा को सुगम किया जा सकेगा। दोनों ही शहरों में बड़ी संख्या में विदेशी सैलानी पहुंचते हैं, अभी यह दूरी 10 से 12 घंटे में तय हो रही है। लखनऊ मंडल बहुत जल्द सेमी हाईस्पीड ट्रेन के लिए सर्वे शुरू करने जा रहा है। आधारभूत ढांचे का विकास करते हुए परियोजना को मूर्त रुप देने की कोशिश की जा रही है।

अगले साल मार्च से यात्रियों को रेलवे के इस फैसले से मिलेगा फायदा


पूर्व और दक्षिण पूर्व रेलवे ने राजधानी, शताब्दी और दुरंतो एक्सप्रेस जैसी कुछ प्रीमियम ट्रेनों में प्रायोगिक आधार पर ‘‘फ्लेक्सी फेयर'' हटाने का फैसला किया है. ‘‘फ्लेक्सी फेयर'' के तहत ट्रेनों में जैसे-जैसे सीटें भरती जाती हैं, उनके किराए में बढ़ोतरी होती जाती है.

अधिकारियों ने मंगलवार को बताया कि रेल मंत्रालय ने 15 मार्च 2019 से प्रायोगिक आधार पर इन ट्रेनों में फ्लेक्सी फेयर योजना को हटाने का फैसला किया है. दक्षिण पूर्व रेल के प्रवक्ता संजय घोष ने बताया कि जिन ट्रेनों में महीने में औसतन 50 प्रतिशत से कम सीटें भरती हैं, उनमें छह महीनों के लिए फ्लेक्सी फेयर हटा दिया जाएगा. उन्होंने कहा कि जिन ट्रेनों में महीने में औसतन 50 से 75 प्रतिशत के बीच सीटें भरती हैं, उनमें से कुछ ट्रेनों में तीन महीने की अवधि (जब यात्रियों की संख्या कम रहती है) के लिए फ्लेक्सी फेयर हटा दिया जाएगा.

USEFUL INFORMATION - www.informationcentre.co.in  

चलती ट्रेन को पकड़ने को कोशिश कर रहा था यात्री, हाथ छूटा तो हुआ ऐसा, देखें VIDEO


तमिलनाडु के Egmore के रेलवे स्टेशन में कुछ ऐसा हुआ जिसने हर किसी को हैरान कर दिया. चलती ट्रेन को पकड़ने के चक्कर में यात्री का हाथ छूटा और गिर गया. वो ट्रेन और प्लेटफॉर्म के बीच में फंस गया था. ये घटना 12 नवंबर की है. तमिलनाडु के एगमोर रेलवे स्टेशन प्लैटफॉर्म में हादसा हुआ. ANI ने वीडियो को पोस्ट किया है. जो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है.

USEFUL INFORMATION - www.informationcentre.co.in  

मुंबई : रेल पटरियों पर हुए हादसे में एक दिन में 12 की मौत, पांच लोग घायल


महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई और उसके आस-पास के इलाकों में सोमवार को रेल पटरियों पर हुए अलग-अलग हादसों में कम से कम 12 लोगों की मौत हो गई और पांच अन्य लोग घायल हुए हैं. राजकीय रेलवे पुलिस ने मंगलवार को यह जानकारी दी. रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि पटरी पार करते समय ट्रेन की चपेट में आने से, खचाखच भरी हुई लोकल ट्रेन से गिरने, ट्रेन और प्लेटफॉर्म के बीच के स्थान में गिरने और आत्महत्या करने के कारण ये मौतें हुईं. जीआरपी ने कहा कि ठाणे जिले और कल्याण में रेलवे की पटरियों पर तीन-तीन लोगों की मौत हो गई. दो की मौत मुंबई के वडाला क्षेत्र में हुई.

Meeting Of the NJCA








आरक्षण व्यवस्था बनी जी का जंजाल


नगर के रेलवे स्टेशन पर आरक्षण व्यवस्था यात्रियों के लिए जी का जंजाल बन गई है। लिंक न आने से यात्री परेशान है। बार-बार शिकायत करने के बाद भी कोई सुनवाई नहीं हो रही है। इसे लेकर यात्रियों में आक्रोश पनपता जा रहा है।

रेलवे प्रशासन की अनदेखी का खामियाजा यात्रियों को भुगतना पड़ रहा है। रेलवे स्टेशन पर आरक्षण खिड़की पर यात्री सुबह से लाइन में खड़े हो जाते हैं, लेकिन आरक्षण नहीं होने से उन्हें परेशानी हो रही हैं। यात्रियों में सोनू, महेश, विकास, अमरदीप, कपिल, उत्तम का कहना था कि पिछले कई दिन से आरक्षण कराने को लेकर चक्कर काट रहे हैं, लेकिन आरक्षण नहीं हो पा रहा है। इस संबंध में आरक्षण क्लर्क राज कुमार का कहना था कि कभी-कभी लिंक न आने से परेशानी हो जाती है।

Source - Amar Ujala 


पैसेंजर ट्रेनों से बदतर है स्पेशल ट्रेनें


कहने को तो ये स्पेशल गाड़ियां हैं, लेकिन इनकी चाल और परिचालन पैसेंजर ट्रेनों से भी बदतर है। त्योहारों पर घर जाने और त्योहार मनाकर वापस लौटने वाले मुसाफिरों को राहत देने के लिए रेलवे ने स्पेशल गाड़ियों का संचालन किया था लेकिन अप और डाउन दोनों ही तरफ से ये गाड़ियां यात्रियों को कोई राहत मिली।

स्पेशल गाड़ियां के भरोसे रहने वाले यात्रियों को 28-18 घंटे इंतजार करना पड़ रहा है। इनकी स्पीड पैसेंजर ट्रेन भी खराब है जिससे स्पेशल ट्रेनें अगले दिन ट्रेनें पहुंच रही हैं। जय नगर से नई दिल्ली के बीच चलाई गई स्पेशल ट्रेन मंगलवार को 28 घंटे देरी से जंक्शन पहुंची। इस ट्रेन को सोमवार दोपहर दस बजे जंक्शन पहुंचना था, लेकिन मंगलवार को शाम पहुंची। कटिहार जालंधर स्पेशल ट्रेन मंगलवार को 15 घंटे देरी से आई। दरभंगा से नई दिल्ली स्पेशल ट्रेन 19, कटिहार से आनंद विहार स्पेशल ट्रेन 18 घंटे देरी से जंक्शन पहुंची। गरीब रथ छह घंटे, मालदा टाउन हरिद्वार सात घंटे, शहीद एक्सप्रेस बारह घंटे और हावड़ा से हरिद्वार के बीच चलने वाली कुंभ साढ़े पांच घंटे देरी से जंक्शन से गुजरीं। ट्रेनों की लेट लतीफी से यात्री बेहाल हैं। यात्रियों का कहना है कि स्पेशल ट्रेन का किराया भी ज्यादा है और समय का कुछ भी पता नहीं है। हालांकि इन ट्रेनों में रिजर्वेशन कैंसल होने से रेलवे को लाखों रुपये का नुकसान होता है।

Source - Amar Ujala


Translate in your language

M 1

Followers